बीजेपी छोड़ फिर अपने घर तृणमूल में वापस लौटे विप्लव मित्र!

1
1078

बीजेपी छोड़ फिर अपने घर तृणमूल में वापस लौटे विप्लव मित्र!

BAHRS GLOBAL NEWS, 31 JUL 2020
लक्ष्मी शर्मा, दक्षिण दिनाजपुर : कभी रूठ कर तृणमूल से बीजेपी में शामिल हुए विप्लव मित्रों आज कोलकाता में तृणमूल के महासचिव पार्थ चट्टोपाध्याय की अगुवाई में फिर दामन थाम लिया तृणमूल का। उनके साथ उनके भाई प्रशांत मित्रों भी तृणमूल में शामिल हो गए।
आज कोलकाता में एक समारोह के बीच मित्रों मित्रों अपने भाई प्रशांत मित्रों के साथ तृणमूल में वापस आ गए और उनके साथ वहां उपस्थित थे राज्यसभा सांसद अर्पिता घोष दक्षिण दिनाजपुर जिला तृणमूल सभापति गौतम दास वअन्य नेतागण।
मालूम हो कि पिछले लोकसभा इलेक्शन के बाद तृणमूल के कद्दावर नेता दक्षिण दिनाजपुर जिले के सांगठनिक नेता विप्लव मित्र बीजेपी में शामिल हो गए थे। लेकिन अब वापस होती न मॉल में आ गए हैं इसे लेकर दक्षिण दिनाजपुर जिले में काफी खुशी का माहौल है उनके समर्थकों ने आज उनके स्वागत में रैली निकाली और जमकर पटाखे छोड़े।

1 COMMENT

  1. A tasteless innuendo, which long run cost Ivan Shadrin to slog away, occurred in 1912. On the pages of a townswoman newspaper there were materials from a conclave of the City Duma, at which they discussed the inception of a extra syphilitic clinic as far as something prostitutes http://power-bank96050.fitnell.com/40552604/helping-the-others-realize-the-advantages-of#Проститутки (prostitution was then allowed in Russia). Doctor Vasiliev, speaking to the deputies, ?????? ???? ??? ???? ?? ?????? ??? ???? ???? ?????? ?????! | BG News criticized how the Nikolsk-Ussuriysk the fuzz controlled abase oneself: each,

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here